CM योगी को युवती ने खून से लिखा खत, कहा आत्महत्या कर लूंगी, BJP के मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह पर लगाए गम्भीर आरोप

0
73

कौशाम्बी. सीएम योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बनते ही यूपी में लड़कियों से छेड़छाड़ को रोकने के लिेये एंटी रोमिया स्क्वाड बना दिया। बावजूद इसके कौशाम्बी में एक युवती ने सीएम योगी को खून से खत लिखा है। यही नहीं उसने उन्हें आत्महत्या करने की चेतावनी तक दी है। खून से लिखे खत में उसने बीजेपी के राज्यमंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह पर कई आरोप लगाए हैं। उसने खत में साफ लिखा है कि यदि उसे न्याय नहीं मिला तो वह अपनी जान दे देगी और इसकी जिम्मेदारी योगी सरकार की ही होगी। दरअसल मीनू के परिजनों का आरोप है कि उसके भाई रवींद्र की हत्या ऑनर किलिंग के चलते कर दी गयी और आरोपियों को मंत्री धुन्नी सिंह के दबाव में बचाया जा रहा है।

देखें वीडियो

जिस मामले में प्रेमिका व उसके भाई के खिलाफ हत्या कर शव ठिकाने लगाये जाने का केस भी दर्ज है, लेकिन आरोप है कि राज्य मंत्री के प्रभाव के चलते पुलिस अभियुक्तों की गिरफ्तारी करने के बाद थाने से छोड़ दिया। इलाहाबाद में रविवार को होने वाले पीएम नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम की व्यस्तता के चलते इस मामले में कोई भी पुलिस का अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहीं।

देखें वीडियो

दरअसल कौशाम्बी के चरवा थाना इलाके के तेली का पूरा गांव की रहने वाली 22 साल की मीनू का के मुताबिक उसका 20 वर्षीय भाई रवींद्र इलाहाबाद में रहकर म्टपर्् डॉटकॉम प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। इसी कंपनी में फतेहपुर के कल्यानपुर थानान्तर्गत मौहार गांव निवासी पंकज सिंह चैहान भी काम करता था। दोनों में दोस्ती बढ़ी तो रवींद्र का उसके घर आना-जाना हो गया। इस दौरान रवींद्र यादव का पंकज की बहन अंजुमन सिंह से प्रेम संबंध हो गया।

देखें वीडियो

यह बात पंकज को नागवार गुजरी। आरोप है कि आठ मार्च को हत्यारोपी पंकज सिंह चैहान ने रवींद्र को फोन कर अपने घर फतेहपुर बुलाया। ट्रेन में सफर करने के दौरान रवींद्र ने अपनी आखिरी फोटो अपने दोस्तों को व्हाट्सएप्प पर सेंड की। उसके बाद रवींद्र का पता नही चला और मोबाइल भी स्वीच ऑफ हो गया। परिजनों ने काफी खोजबीन की तो पता चला की नौ मार्च को फतेहपुर जिले के कल्यानपुर थाना इलाके के बिंदकी रेलवे स्टेशन के बीच रेलवे ट्रैक पर रवींद्र का शव पूरी तरह से नग्न अवस्था में कई भागों में कटा व क्षत विछत मिला है। मौके पर उसका कपडा सुरक्षित एक स्थान पर रखा था और पास में एक खंजर भी पड़ा मिला। जिसका कल्यानपुर पुलिस अज्ञात में पंचनामा भर पोस्टमार्टम को भेज चुकी थी।

देखें वीडियो

परिजनों ने शव की शिनाख्त की और ऑनर क्लिंग के चलते हत्या का आरोप लगाया तो पुलिस भी हरकत में आ गयी। मृतक युवक के पिता शिव प्रताप की तहरीर पर कल्यानपुर पुलिस ने साथी पंकज सिंह चैहान व उसके बहन अंजुमन सिंह के खिलाफ हत्या कर शव ठिकाने लगाये जाने के मामले में आईपीसी की धारा 302, 201 के तहत केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने तफ्तीश के दौरान मृतक रवींद्र का मोबाइल अभियुक्तों के गांव से बरामद किया गया। आरोप है कि सर्विलांस के जरिये जब हत्यारोपी को हिरासत में लिया गया तो राजनैतिक दबाव बढ़ने लगा। आखिरकार पुलिस को हत्या आरोपी पंकज सिंह चैहान को बिना चालान किये ही थाने से छोड़ दिया।

देखें वीडियो

एसपी ने कहा राज्यमंत्री का दबाव है हम कार्रवाई नहीं कर सकते

परिजनों का आरोप है कि हत्यारों पर कार्यवाही न होने पर मृतक युवक की बहन मीनू अपने पिता के साथ फतेहपुर पुलिस कप्तान के दफ्तर पहुंची। वहां एसपी ने उनसे बताया कि हुसैनगंज विधायक व राज्य मंत्री रणवेंद्र प्रताप उर्फ धुन्नी सिंह के प्रभाव के चलते हम कार्यवाई कराने में असमर्थ हैं। आप भी इस मामले में हाई प्रोफाइल नेताओं से फोन कराएं तभी न्याय मिल पाना संभव होगा। पीड़ित परिजनों का कहना है कि एक पुलिस अधिकारी से ऐसी बातें सुनकर वह लौट गए। उसके बाद मीनू ने यह कदम उठाया। मीनू ने सीएम योगी आदित्यनाथ को अपने खून से एक खत लिखा। उसमें पूरे घटनाक्रम का जिक्र कर इंसाफ की गुहार लगाई। पत्र में राज्यमंत्री धुन्नी सिंह पर भी आरोप लगाए। न्याय न मिलने पर आत्मदाह की चेतावनी भी दी है।

देखें वीडियो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here