योगी सरकार की कैबिनेट मीटिंग में किसानों का कर्ज हुवा माफ, 2.15 करोड़ किसानों का एक लाख रुपये तक का कर्ज होगा माफ

0
76

यूपी के मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में योगी सरकार की पहली कैब‌िनेट की बैठक पिछले एक घंटे से जारी है। इस बीच अंदर से ये जानकारी आ रही है कि यूपी सरकार ने पहली कैबिनेट बैठक में बड़ा फैसला ले लिया है और 2.15 करोड़ किसानों का एक लाख रुपये तक का कर्ज माफ कर दिया है। सूत्रों की मानें तो छत्तीस हज़ार करोड़ रुपये से कर्ज माफ क‌िया जाएगा। हालांकि अभी इसकी कोई औपचारिक जानकारी नहीं है। बैठक खत्म होने के बाद ही इस फैसले का ऐलान किया जाएगा।

बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय और सहकारी बैंकों में किसानों के कर्ज को माफ कर दिया गया है। इसके अलावा मीटिंग में यांत्रिक बूचड़खानों पर रोक लगाने की भी हो रही है चर्चा। साथ ही गाजीपुर में स्टेडियम बनाने को लेकर भी चर्चाएं हो रही हैं।

योगी कैबिनेट की पहली बैठक सरकार बनने के 16 दिन बाद होने जा रही है और इस देरी के लिए कर्ज की माफी के चुनावी वादे को जिम्मेदार माना जा रहा है। सूबे के कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही कह भी चुके हैं कि इसके लिए विभाग स्तर पर प्रस्ताव बनाकर भेज दिया गया है। राज्य सरकार ने उन किसानों की पूरी सूची तैयार कर ली है जिन्हें कर्जमाफी का फायदा मिलेगा।


इन वादों के पूरे होने की है उम्मीद

कॉलेज में दाखिला लेने वाले युवाओं को मुफ्त लैपटॉप व हर महीने एक जीबी डाटा
ग्रेड तीन व चार की सरकारी नौकरियों में इंटरव्यू खत्म करना
पिछली सरकार की पक्षपात पूर्ण विवादित भर्तियों की जांच कराना
गन्ना किसानों का फसल बेचने के 14 दिन में पूरा भुगतान का वादा

सांप्रदायिक तनाव के कारण पलायन रोकने के लिए पुलिस में एक विशेष विभाग बनाने और हर जिले में एक डिप्टी कलेक्टर नियुक्त करने का वादा।
भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के लिए सीएम सचिवालय में विशेष हेल्पलाइन बनाना।
हर उद्योग में 90 फीसदी नौकरियां प्रदेश के युवाओं के लिए आरक्षित किया जाना।
हर जिले में एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स गठित करना।
सभी सरकारी कॉन्ट्रैक्ट में ई-टेंडरिंग व्यवस्था लागू करना।
असंगठित श्रमिकों के लिए दीनदयाल सुरक्षा बीमा योजना के अंतर्गत दो लाख तक सुरक्षा बीमा।
बुंदेलखंड व पूर्वांचल विकास बोर्ड की स्थापना।
भाजपा सरकार पिछली सरकार की कुछ योजनाओं केनाम बदलने का भी एलान कर सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here