तीन तलाक : सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक का बचाव करने पर कपिल सिब्बल से नाराज हुवे कांग्रेस के आलाकमान

0
20

तीन तलाक मुद्दे पर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की तरफ सुप्रीम कोर्ट में केस लड़ रहे कपिल सिब्बल से कांग्रेस नेतृत्व खासा नाराज नजर आ रहा है। ये जानकारी न्यूज 18 को पार्टी के विश्वसनीय सूत्र ने दी है। कांग्रेस के सीनियर नेता और राज्यसभा सांसद ने कपिल सिब्बल ने आज (17 मई, 2017) को सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक का बचाव करते हुए कहा कि तीन तलाक सदियों पुरानी परंपरा है इसलिए इसे असंवैधानिक नहीं माना जा सकता। इसके साथ ही कपिल सिब्बल ने कहा, ‘कांग्रेस ने हमेशा से कहा था कि तीन तलाक का मुद्दा मुस्लिम महिलाओं की मूल अधिकारों के बारे में रहा है।’ दूसरी तरफ कहा जा रहा है कि पार्टी हाई कमान ने सिब्बल से अभी तक उन्हें ये केस छोड़ने के लिए नहीं कहा है। हालांकि सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि सिब्बल के तीन तलाक का बचाव करने से कांग्रेस अपनी छवि को लेकर खासी चिंतित हैं।

वहीं तीन तलाक मुद्दे पर सुनवाई के दौरान कपिल सिब्बल ने एक नए विवाद को जन्म दे दिया था। सुनवाई के दौरान कपिल सिब्बल ने कहा कि राम का अयोध्या में जन्म होना आस्था का विषय हो सकता है तो तीन तलाक का मुद्दा आस्था का मुद्दा क्यों नहीं हो सकता है। सिब्बल के इसी बयान पर भाजपा नेता संबित पात्रा ने उनपर पलट वार किया था।

संबित पात्रा ने फेसबुक पोस्ट के जरिए कहा, ‘सिब्बलजी, तीन बार राम बोलो तो दुख दूर होता है और तीन बार तलाक बोलो तो दुख शुरू होता है। यही फर्क हैं राम और तलाक में।’ संबित पात्रा की इस पोस्ट को शेयर किए जाने के बाद से अबतक इसे 17 हजार से ज्यादा लोग इसे लाइक कर चुके हैं। जबकि 2.5 हजार लोगों ने इसे अपनी वॉल पर शेयर किया है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक मुद्दे पर सुनवाई के दौरान कपिल सिब्बल ने कहा था कि तीन तलाक मुद्दा आस्था का मुद्दा है जोकि पिछले 1400 सालों से लगातार चला आ रहा है। इस दौरान सिब्बल ने कहा कि आस्था के इस मामले में कोर्ट कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए।

बता दें कि सिब्बल इससे पहले भी राम मुद्दे पर बयान देकर फंस चुके हैं। यूपीए-2 सरकार में रामे सतु मुद्दे पर जब सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस सरकार ने बयान दिया था कि राम सेतु जैसी कोई चीज नहीं है ये सिर्फ कोरी कल्पना है। तब भी कपिल सिब्बल ही केंद्र सरकार की तरफ से वकील थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here