BHU में लगातार दूसरे दिन भी फायरिंग, हंगामा, छात्रों ने किया चक्का जाम

0
35

वाराणसी.बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी व पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र के विश्वविद्यालय बीएचयू में बवाल का अंत होता नजर नहीं आ रहा। आए दिन कुछ न कुछ हंगामा हो ही जा रहा है। प्रशासन की लाख सख्ती के बावजूद छात्रों पर उसका तनिक भी असर नहीं है। अब शनिवार को लगातार दूसरे दिन भी छात्रों ने जम कर हंगामा काटा। फायरिंग की और धरना-प्रदर्शन किया। एक बार फिर से पुलिस को हस्तक्षेप कर मामले को शांत कराना पड़ा।

बीएचयू में शुक्रवार को फेयरवेल पार्टी के लिए हॉल की मांग को डीन द्वारा नकारे जाने के बाद से शुरू हुआ बवाल दूसरे दिन भी जारी रहा। दरअसल शुक्रवार को जिन छात्र गुटों में मारपीट और फायरिंग हुई थी उसमें से एक गुट ने रंजन राठौर सहित तीन छात्रों के विरुद्ध लंका थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। शनिवार को वे सभी छात्र जिनके नाम से एफआईआर हुआ था वे साथियों संग पहले पहुंचे नरेंद्रानंद छात्रावास। वे एफआईआर कराने वाले छात्रों की तलाश कर रहे थे। नरेंद्रानंद छात्रावास में छात्रों के न मिलने पर वे भारतेंदु छात्रावास पहुंचे और जम कर हंगामा किया साथ ही उन्हीं में से किसी ने फायरिंग भी की। साथ ही धमकाया कि एफआईआर वापस न लिया तो जान से मार डालेंगे। फायरिंग व धमकी देने के बाद वे छात्र वहां से चले गए।

फायरिंग और धमकी देने वाले छात्रों का समूह भारतेंदुर हास्टल से निकल गया तो दूसरे गुट के छात्रों में से कुछ बिरला छात्रावास के पास धरने पर बैठ गए तो कुछ सिंह द्वार पहुंचे और विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार को बंद कर धरना देने लगे। वे रंजन राठौर की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। इसकी सूचना मिलते ही सीओ भेलूपुर राकेश कुमार श्रीवास्तव मौके पर पहुंचे और छात्रों को समझा कर शांत किया। तब जा कर द्वार खुला और आवागमन शुरू हुआ। साथ ही छात्र वापस चले गए।

बतादें कि शुक्रवार की घटना के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने देर रात कुलपति प्रो. जीसी त्रिपाठी की अध्य़क्षता में बैठक कर 10 छात्रों का निलंबन भी कर दिया था। प्रशासन ने कहा था कि विश्वविद्यालय में प्रयोगात्मक परीक्षाएं चल रही हैं ऐसे में किसी को परिसर का माहौल खराब करने की इजाजत कतई नहीं दी जा सकती। कुलपति के निर्देश पर निलंबित सभी छात्रों से शैक्षणिक सुविधाएं छीनने के साथ ही उनके परिसर प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था। उसके बाद भी शनिवार को यह घटना हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here