बाबासाहेब का अपमान करने वाले प्रोफेसर पर मुकदमा दर्ज, SC/ST एक्ट में मुकदमा हुवा कायम

0
35

ग्वालियर में जीवाजी विश्वविद्यालय में अंबेडकर जयंती पर कार्यक्रम करने की अनुमति न देने पर उपजा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को विधि छात्रों ने विश्वविद्यालय थाने पर जमकर हंगामा किया। थाना घेरकर छात्र विधि संस्थान के एचओडी और प्रॉक्टर पर एफआईआर दर्ज करने की मांग कर रहे थे।

चार घंटे से अधिक समय तक छात्रों ने न केवल थाना घेरे रखा, बल्कि एफआईआर न होने की दशा में आत्मदाह की धमकी भी दी। बाद में पुलिस ने सुमन राहुल अहिरवार की रिपोर्ट पर विधि संस्थान के एचओडी प्रो. गणेश दुबे व प्रॉक्टर प्रो. आरए शर्मा पर छेड़खानी, मारपीट, जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज कर लिया। साथ ही अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अधिनियम 1989 के तहत भी मामला पंजीबद्ध किया गया है। इसके बाद ही छात्रों ने थाना छोड़ा।

विश्वविद्यालय थाना पर एफआईआर दर्ज न होने तक तनाव की स्थिति बनी रही। स्थिति से निपटने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल मौके पर बुला लिया गया था। एसडीएम रिंकेश व्यास, तहसीलदार भूपेन्द्र कुशवाह भी थाने पहुंचे। छात्र पुलिस पर मामला दर्ज न करने का आरोप लगा रहे थे। उनका कहना था कि पुलिस पक्षपात कर रही है। इसलिए वे थाने से तभी जाएंगे जब उनकी एफआईआर दर्ज कर ली जाएगी। छात्रों ने जमकर नारेबाजी भी की। इधर छात्र वापस जेयू के गेट पर आकर धरने पर बैठ गए।

दरअसल, पिछले हफ्ते लॉ डिपार्टमेंट के स्टूडेंट्स अपने विभागाध्यक्ष प्रो. गणेश दुबे के पास पहुंचे और उन्होंने अंबेडकर जयंती पर एक क्विज प्रतियोगिता कराने की अनुमति चाही। लेकिन स्टूडेंट्स के मुताबिक प्रो. दुबे ने अनुमति नहीं दी और उनके साथ बुरा व्यवहार किया।

इसके बाद स्टूडेंट्स ने कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला से कार्रवाई करने की मांग की लेकिन छात्रों के कहने के बाद भी कुलपति नहीं आईं, हालांकि प्रॉक्टर प्रो. आरए शर्मा स्टूडेंट्स से बात करने आए। इस दौरान स्टूडेंट्स और प्रो. शर्मा के बीच बहस हो गई। जिसके बाद यूनिवर्सिटी के कई प्रोफेसर्स और अफसर यूनिवर्सिटी थाने पहुंचे और कई स्टूडेंट्स के ऊपर मामला दर्ज करा दिया। फिर स्टूडेंट्स भड़क गए और वे हड़ताल और धरने पर बैठ गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here