You are here
पक्ष -विपक्ष 

योगी सरकार के डर से, सरकारी मंत्रालयों दफ्तरों के कूड़ेदानों में पहुंची अखिलेश और आजम खान की तस्वीरें

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार बनने के बाद राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और आजम खान की फोटोज को डस्टबिन में फेंक दिया गया है। ऐसा नजारा यूपी के सरकारी दफ्तरों के डस्टबिन्स का है। जिला मजिस्ट्रेट के दफ्तर के डस्टबिन में भी अखिलेश का एक कलेंडर पड़ा दिखा जिसमें उनकी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र था। उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के मंत्रियों की तरफ से सख्त हिदायत है कि अखिलेश यादव की सरकार से जुड़ा कुछ भी सामान मंत्रालयों और सरकारी दफ्तरों में ना दिखे। इसलिए सभी मंत्रालयों और सराकरी दफ्तरों से अखिलेश यादव, मुलायम सिंह यादव और सपा सरकार से जुड़ी सभी चीजों को हटाया जा रहा है। ऐसा ना करने पर सख्त एक्शन लेने की बात भी कही गई है।

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, आगरा में मनाए गए ताज महोत्सव के दौरान एक डाक्यूमेंट्री चली थी जिसमें पूर्व सीएम अखिलेश यादव की तस्वीर थी। उसपर जिला मजिस्ट्रेट गौरव दयाल ने टूरिज्म के डिप्टी डायरेक्टर दिनेश कुमार को चेतावनी दे दी थी। उस डाक्यूमेंट्री को भी तब ही बंद करवा दिया गया था और आगे से ऐसी गलती ना दोहराने की हिदायत भी दी गई थी।

इसके अलावा योगी आदित्य नाथ ने चार करोड़ राशन कार्ड्स को फिर से बनाने का ऑर्डर दिया है जिनके पहले पन्ने पर अखिलेश यादव की तस्वीर लगी हुई है। इसके अलावा मुस्लिम वक्फ बोर्ड और हज मंत्रालय के मंत्री मोहसीन रजा का भी एक वीडियो सामने आया था। जिसमें वह अपने दफ्तर में सपा नेता आजम खान की फोटो देखकर भड़क गए थे।

2017 में पांच राज्यों में विधान सभा चुनाव हुए। इसमें पंजाब, उत्तराखंड, गोवा, उत्तर प्रदेश और मणिपुर में वोटिंग हुई। पंजाब में भाजपा हार गई। लेकिन गोवा, उत्तरांखड, मणिपुर और उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार बनाने में कामयाब हो गई। गोवा और मणिपुर में गठबंधन करके सरकार बनाई गई वहीं यूपी और उत्तराखंड में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिला था। यूपी में भाजपा ने 312 सीटें जीती थीं। वहीं गठबंधन के साथ उसके खाते में 325 सीटें आईं। यूपी में जीत के बाद भाजपा की तरफ से गोरखपुर से सांसद योगी आदित्य नाथ को सीएम बनाया गया।

Related posts

Leave a Comment

Pin It on Pinterest

X
Share This