You are here
अर्थ व्यवस्था ताज़ा ख़बरें 

सरकार के नये नियमानुसार अपना ही पैसा निकालने गए तो बैंक वसूलेंगे मोटी फीस, नियम एक मार्च से लागू

1 मार्च से जब अपने खाते से पैसे निकलेंगे या जमा करेंगे तो आपको भारी फीस बैंक को अदा करनी होगी। बैंक के इस कदम के पीछे की वजह डिजिटल ट्रांजेक्शन को बताया जा रहा है.डिजीटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के मोदी सरकार की मुहिम के तहत ग्राहकों को बैंकों से अपने ही पैसे निकालने के लिए मोटी फीस देनी होगी। यह नियम 1 मार्च 2017 से लागू होगा। देश के दूसरे सबसे बड़े प्राइवेट बैंक एचडीएफसी ने अपने सेविंग्स और सैलरी अकाउंट होल्डर्स के लिए यह कदम उठाया है। बैंक की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक 1 मार्च 2017 से जब आप अपने खाते से नकद पैसे निकालेंगे या जमा करेंगे तो आपको भारी फीस बैंक को अदा करनी होगी। बैंक के इस कदम के पीछे की वजह डिजिटल/कैशलेस ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देना बताया जा रहा है। नए नियम के तहत वसूले जाने वाले शुल्कों का ब्योरा यह है-

1)- कैश ट्रांजैक्शन की संख्या (लेन-देन दोनों को मिलाकर)
– खाते से महीने में सिर्फ 4 बार कर सकेंगे फ्री कैश ट्रांजैक्शन
– पांचवे ट्रांजैक्शन से प्रति लेन-देन के लिए लेवी के रूप में देना होगा 150 रुपए ( सर्विस टैक्स और सेस अलग से )
– एसबी मैक्स कस्टमर्स को हर महीने 5 फ्री कैश ट्रांजैक्शन की सुविधा। छठी बार से हर नकद जमा-निकासी पर प्रति ट्रांजैक्शन 150 रुपए देने होंगे ( सर्विस टैक्स और सेस अलग से)

होम ब्रांच: (बैंक के जिस ब्रांच में आपका अकाउंट है)
– एक अकाउंट से मुफ्त नकद लेन-देन की सीमा दो लाख रुपए
– दो लाख रुपए से अधिक की राशि जमा करने या निकालने पर प्रति हजार 5 रुपए या फिर कम से कम 150 रुपए शुल्क लगेगा। ( टैक्स और सेस अलग से)

नॉन होम ब्रांच:
– प्रतिदिन 25000 रुपए तक कैश ट्रांजैक्शन करने पर कोई चार्ज नहीं लगेगा।
– 25000 से ज्यादा जमा करने या निकालने पर प्रति हजार रुपए पर 5 रुपए या फिर कम से कम 150 रुपए देने होंगे।  ( टैक्स और सेस अलग से)

3)- थर्ड पार्टी कैश ट्रांजैक्शन (बैंक की जिस ब्रांच में आपका अकाउंट है):

25,000 रुपए  तक के थर्ड पार्टी ट्रांजैक्‍शन पर 150 रुपए चार्ज (टैक्‍स और सेस देना होगा)। 25000 रुपए से ज्यादा की अनुमति नहीं है।

सीनियर सिटीजन, माइनर अकाउंट्स पर भी 25,000 रुपए की ही लिमिट है, लेकिन इसके लिए चार्ज नहीं लगेगा।

4)- कैश हैंडलिंग चार्ज
1 मार्च 2017 से हटा लिया जाएगा।

देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक ICICI की वेबसाइट पर भी इस संबंध में जानकारी दी गई है। बैंक की वेबसाइट के मुताबिक चार ट्रांजैक्शन से ज्यादा करने पर मिनिमम 150 प्रति ट्रांजैक्शन देने होंगे। इस लिस्ट में तीसरा बैंक एक्सिस बैंक है जो एकस्ट्रा कैश ट्रांजेक्शन लिमिट दे रहा है। इसके तहत 5 कैश ट्रांजेक्शन या 10 लाख रुपए तक का ट्रांजैक्शन फ्री है। इसके बाद से दूसरे बैंकों की तरह की चार्ज लगेंगे।

Related posts

Leave a Comment

Pin It on Pinterest

X
Share This