You are here
ख़बरें जरा हटके राजनीति 

सपा नेता ने किया शांति यज्ञ , 2017 मे पुनः सरकार बनाने के लिये की प्राथना !

वाराणसी : एक तरफ जहां पूरे प्रदेश में सपा कुनबे की कलह चरम पर है। पार्टी का हर सदस्य कुनबे के इस कलह को शांत कराने में जुटा है इसी क्रम मे वाराणसी के पूर्व जिलाध्यक्ष सतीश फौजी ने भी शांति पाठ और यज्ञ के माध्यम से समाजवादी पार्टी मे चल रहे विवाद को ख़त्म करने व आगामी विधानसभा चुनाव मे सपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने हेतु पुजा अर्चना की.उधर सीएम अखिलेश नेता जी के आदेश को सिर माथे पर रख करने को तैयार हैं पर किसी बाहरी को बर्दाश्त करने को कतई राजी नही। इस बात को वह पार्टी सुप्रीमों मुलायम सिंह यादव के सामने भी स्पष्ट कर चुके हैं। वही दूसरी तरफ़ बात चीत का दौर लगातार जारी है.और ताजा ख़बरों के मुताबिक जल्द ही इस आन्तरिक कलह को विराम लग सकता है.और शायद इसी लिये सपा नेता सतीश फौजी ने अपने घर पर सीएम अखिलेश यादव और पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव की तस्वीर रख कर यज्ञ कर कुनबे के कलह को शांत कराने की पहल की है!
गौरतलब है के इससे पहले भी सतीश फौजी ने समाजवादी पार्टी मे चल रहे कलह की शांति हेतु पुजा पाठ और यज्ञ करवाया था!

पूर्व जिलाध्यक्ष सतीश फौजी को सपा सुप्रीमों मुलायम सिंह का करीबी माना जाता है.शायद इस नजदीकी के चलते ही इन्हें वाराणसी जैसे महत्वपूर्ण जिले की कमान मिली थी.परंतु शिवपाल यादव के प्रदेश अध्यक्ष बनते ही इन्हे जिलाध्यक्ष पद से हटा दिया गया था.लोगो की माने तो इन्हे अखिलेशवादी होने का भी खमियाजा भुगतना पड़ा. पर उस वक्त भी मुख्यमन्त्री अखिलेश यादव को जब यह बात पता चली तो उन्होने सतीश फौजी को अपने आवास पर बुलवाकर उनसे मुलाकत की और आश्वस्त किया के आपकी पार्टी के प्रति ईमानदारी और समर्पण खाली नही जायेगा आपको इसकी सज़ा नही बल्कि इनाम मिलेगा!

बहरहाल वर्तमान मे तो समाजवादी पार्टी मे चल रहे कलह को शांत करने के लिये हर कोई अपने अपने तरीके से लगा है और शायद यही वजह है इस कलह पर अंकुश लगने की सम्भावनाएं भी बढ़ गई है जिसके मद्देनजर अखिलेश यादव और मुलायम सिंह के बीच मचा घमासान अब थमता सा नजर आ रहा है। सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सामने मुलायम सिंह ने सरेंडर कर दिया है। सपा सुप्रीमो ने अखिलेश की शर्तें मान ली है।
सूत्रों की माने तो, अमर सिंह और चाचा शिवपाल को लेकर अखिलेश ने जो शर्तें रखीं थी उनके सामने मुलायम सिंह झुक गए हैं। जल्द ही अमर सिंह पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा देंगे। इसके साथ ही पार्टी के शिवपाल यादव भी यूपी अध्यक्ष पद छोड़ेंगे!

Related posts

Leave a Comment

Pin It on Pinterest

X
Share This