You are here
ताज़ा ख़बरें 

नोएडा आग हादसा: मलबे के ढेर में मिले मानव अंग, फायर सेफ्टी सिस्टम पर उठे सवाल,अभी भी गुमशुदा की तलाश

नोएडा के सेक्टर-11 स्थित एक्सेल ग्रीन टेक प्राइवेट लिमिटेड में आग लगने के बाद देर रात तक पुलिस ने सर्च आपरेशन किया जो दिन चढ़ते ही एक बार फिर शुरू हो गया। सुबह करीब आठ बजे मानव अंग के कुछ हिस्से पुलिस को मिले।

एंबुलेंस के जरिये इन हिस्सों को मोर्चरी भेज दिया गया। यहां से सैंपल लेकर डीएनए जांच के लिए इन्हें भेजा जाएगा। वहीं, हादसे के बाद कंपनियों-भवनों के फायर सेफ्टी सिस्टम को लेकर भी सवाल उठे हैं। बुधवार को नोएडा के सेक्टर 11 स्थित एलईडी बल्ब बनाने वाली कंपनी में लगी आग में 6 लोगों की जलकर मौत हो गई।

हादसे में आग बुझाने के बाद कंपनी की सफाई शुरू की गई। पुलिस का कहना है कि आग बिल्डिंग के बेसमेंट से शुरू हुई। उस समय चौथी मंजिल पर काम कर रहे कंपनी के कर्मचारियों को इस बात का बिल्कुल अहसास नहीं था कि आग भीषण फैल जाएगी।

तेज धमाके के साथ पहले कांच फटा, इसके बाद आग तेजी से ट्रांसफार्मर की ओर बढ़ी। ग्राउंड फ्लोर पर खड़ी बाइक भी उसकी चपेट में आ गईं।

कंपनी में 12 लोग फंसे थे जिसमें दो लोग लिफ्ट में थे। इसमें से छह लोगों के शव मिल चुके हैं, जिसमें से दो की शिनाख्त नहीं हो पाई है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दोनों शव की हालत बेहद खराब है। ऐसे में बिना डीएनए जांच के कुछ भी नहीं कहा जा सकता।

वहीं, दिल्ली की सुभद्रा कॉलोनी निवासी पवन शर्मा का अब भी कुछ पता नहीं चल सका है। पवन के परिजनों ने सेक्टर-24 में गुमशुदगी दर्ज कराई है। साथ ही, परिजन डीएनए के लिए पवन के दोनों बेटों के साथ कंपनी के पास ही भटक रहे हैं।

Related posts

Leave a Comment

Pin It on Pinterest

X
Share This