You are here
ताज़ा ख़बरें 

दिल्‍ली एमसीडी चुनाव 2017: ओपिनियन पोल में AAP को केवल 45 सीट, बीजेपी को 179

अनुसार, नॉर्थ दिल्‍ली की 104 सीटों में बीजेपी का वोट शेयर 44 फीसदी रहेगा। इसके अलावा AAP को यहां 25 फीसदी वोट, कांग्रेस को 19 फीसदी तथा अन्‍य को 12 फीसदी वोट मिलेंगे। साउथ दिल्‍ली में बीजेपी को 39 फीसदी, AAP को 32 फीसदी, कांग्रेस को 20 प्रतिशत व अन्‍य को 9 फीसदी वोट मिलने का अनुमान लगाया गया है। एबीपी न्‍यूज-सी वोटर के ओपिनियन पोल के अनुसार दिल्‍ली नगर

निगम के नतीजे कुछ इस तरह रहेंगे:

बीजेपी – 179
आप – 45
कांग्रेस – 26
अन्‍य – 22

देखें किस क्षेत्र में किसका पलड़ा रहेगा भारी:

नॉर्थ दिल्‍ली (104 सीट) :

बीजेपी – 76
आप – 13
कांग्रेस – 8
अन्‍य – 7

साउथ दिल्‍ली (104 सीट) :

बीजेपी – 60
आप – 21
कांग्रेस – 10
अन्‍य – 13

ईस्‍ट दिल्‍ली (64 सीट) :

बीजेपी – 43
आप – 11
कांग्रेस – 8
अन्‍य – 2

भाजपा ने कुछ दिन पहले दावा किया था कि आप के अंदरुनी सर्वे में भाजपा को 202 सीटें मिल रही हैं, इसीलिए उसने अपना सर्वे जारी नहीं किया। एमसीडी चुनाव 23 अप्रैल को होने हैं और 26 तारीख को इसके नतीजे घोषित किए जाएंगे। भाजपा 10 साल से एमसीडी की सत्‍ता में काबिज है। इस बार दिल्‍ली में भाजपा, कांग्रेस और आप के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है।

आप एमसीडी में भाजपा के 10 साल के कार्यकाल को मुद्दा बनाते हुए मैदान में हैं। वहीं भाजपा केजरीवाल सरकार के दो साल के कामकाज को निशाना बना रही है। साथ ही वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को भी भुनाने की कोशिश में लगी है। कांग्रेस सरकार चलाने के अपने अनुभव को गिनाते हुए चुनौती दे रही है।

दिल्ली नगर निगम चुनाव का बिगुल बज चुका है और रविवार को दिल्ली नगर निगम चुनावों में दावेदारी कर रहे उम्मीदवारों की किस्मत वोटिंग मशीन में कैद हो जाएगी। इस चुनावों को लेकर दिल्ली में सत्तारूढ़ पार्टी आम आदमी पार्टी, कांग्रेस, बीजेपी और अन्य पार्टियों ने पूरी तैयारी कर ली है। हालांकि 26 अप्रैल को ही पता चलेगा कि चुनावों में कौन बाजी मारेगा, आइए जानते हैं पिछली बार चुनाव के क्या नतीजे क्या कहते हैं।

बता दें कि दिल्ली नगर निगम चुनावों में कुल 272 वार्ड है। वहीं 2012 में इनमें से बीजेपी ने 138 वार्ड और कांग्रेस ने 78 वार्ड में जीत दर्ज की थी, जबकि बीएसपी को 15 व अन्य को 41 वार्ड हासिल हुए थे।

दक्षिण दिल्ली नगर निगम चुनाव में कुल 104 वार्ड हैं, जिसमें बीजेपी ने 44 वार्ड, कांग्रेस ने 29, बीएसपी ने 5 और अन्य ने 26 वार्ड में कब्जा किया था। इस दौरान क्षेत्र में कुल 43 लाख 18 हजार 233 मतदाता थे।

पूर्वी दिल्ली नगर निगम में कुल 64 वार्ड हैं ,जिसमें बीजेपी ने 35, कांग्रेस ने 19, बीएसपी ने 3 वार्ड में जीत हासिल की थी। इस क्षेत्र में कुल 27,39,620 मतदाता थे।

अगर उत्तरी दिल्ली नगर निगम की बात करें तो यहां 104 कुल वार्ड हैं, जिसमें बीजेपी ने 59 वार्ड, कांग्रेस ने 29 वार्ड, बीएसपी ने 7 वार्ड और अन्य ने 9 वार्ड में जीत हासिल की थी। वहीं इस क्षेत्र में कुल 43,47, 611 मतदाता थे।

Related posts

Leave a Comment

Pin It on Pinterest

X
Share This