You are here
अर्थ व्यवस्था ताज़ा ख़बरें 

अमेरिका के बड़े अर्थशास्त्री ने कहा- नोटबंदी से मोदी ने भारत की अर्थव्यवस्था को मंदी के रास्ते पर ला दिया है !

USA : अमेरिका के जाने माने अर्थशास्त्री स्टीव एच हांके ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी के फैसले की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि भारत में ‘नकदी पर हमले’ से जैसी की उम्मीद थी, अर्थव्यवस्था को मंदी के रास्ते पर धकेल दिया। मैरीलैंड, बाल्टीमोर की जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी में एपलायड इकोनोमिस्ट हांके ने कहा, ‘नकद राशि के खिलाफ जंग छेड़ने से मोदी ने सरकारी तौर पर भारतीय अर्थव्यवस्था को मंदी के रास्ते पर धकेल दिया। मोदी के नोटबंदी के फैसले के बाद मैं यही सोच रहा था कि ऐसा होगा।

उन्होंने कहा, ‘नकद राशि के खिलाफ जंग छेड़ने से विनिर्माण क्षेत्र प्रभावित हुआ है। मोदी के फैसले से भारत में अर्थव्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ा है।’ हांके ने कहा कि नोटबंदी की वजह से भारत 2017 में आर्थिक वृद्धि के मामले में नेतृत्व के मंच से नीचे खिसक सकता है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आठ नवंबर को अचानक 500 और 1,000 रुपए के नोट को चलन से वापस लेने की घोषणा की थी। सरकार ने यह कदम कालाधन, नकली नोट और भ्रष्टाचार पर प्रहार करने के लिए उठाया।

बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी के फैसले के बाद कई अन्य अर्थशास्त्रियों ने भी इस फैसले की आलोचना की थी। इसके साथ ही इस फैसले से अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले असर को लेकर विपक्षी दलों ने भी भाजपा सरकार को निशाना बनाया था। अर्थशास्त्रियों ने कहा था कि इस फैसले से देश की अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक असर पड़ेगा। उनका कहना था कि देश की इकॉनोमी से 85 फीसदी नगदी वापस ले ली गई। साथ ही कहा था कि इस फैसले की वजह से कई उद्योंगों पर प्रतिकूल असर पड़ेगा, जिससे देश में मंदी और बेरोजगारी बढ़ेगी।

Related posts

Leave a Comment

Pin It on Pinterest

X
Share This